जाने सरदारों के 12 बजने का सच

6550

ओए सरदार ! 12 बज गए’, जानें सरदारों का ’12 बजने’ से संबंध’ ओये सरदार! 12 बज गए।’ आपने भी कहीं ना कहीं, कभी ना कभी तो यह शब्द सुने होंगे। अक्सर आपने कुछ लोगों को यह कहते सुना होगा कि सरदारों का दिमाग 12 बजे खराब हो जाता है। परंतु क्या है इसके पीछे की कहानी? क्या रिश्ता है 12 बजे का सरदारों से?

आइये, हम आपको बताते हैं सरदारों का ’12 बजे’ से क्या रिश्ता है, जिसे जानकर आप गर्व करेंगे अपने सरदार भाइयों और सिक्ख समुदाय पर।

अगली स्लाइड पे जानिये पूरा सच

1 of 4