[the_ad_placement id="mobile-above-title"]
Home Blog Page 60

अपने बेटे की लाश को भी नही बख्शा राजनैतिक रोटियां सेंकने के लिए इंदिरा गाँधी ने !

गाँधी परिवार, एक ऐसा परिवार है जो सबसे ज्यादा विवादों से घिरा हुआ है l इस परिवार से जुड़े कई ऐसे सच हैं जो आज भी किसी को नहीं पता हैं l ऐसा ही एक सच हम आपको बता रहे हैं जो आज कल सोशल मीडिया पर छाया हुआ है संजय गांधी का शव बगल में रखा था और इंदिरा गांधी राजनीति कर रही थी ! बात उन दिनों की है जब इंदिरा गांधी से किसी राजनीतिक मसले पर चर्चा करने के लिए विश्वनाथ प्रताप सिंह दिल्ली आए हुए थे l तभी इंदिरा गांधी के सहायक आरके धवन आए और सीधे उनके कक्ष में गए l  वहां उन्होंने इंदिरा गांधी को एक बड़े हादसे की सूचना दी l आरके धवन की बात सुनते ही  इंदिरा गांधी तुरंत उठकर उनके साथ निकल पड़ी l

दरअसल खबर ये थी संजय गाँधी का प्लेन क्रेश हो गया था, और इंदिरा गांधी तुंरत ही धवन के साथ एम्बेस्डर कार में घटनास्थल के लिए रवाना हो गईं l घटना स्थल पर  इंदिरा गांधी के पहुंचने से पहले ही दोनों शवों को विमान के मलवे में से बाहर निकाल लिया गया था और हॉस्पिटल ले जाने की तैयारी थी lइंदिरा गांधी भी एम्बुलेंस में संजय गाँधी के शव के साथ राम मनोहर लोहिया अस्पताल के लिए रवाना हो गयी थीं l अस्पताल पहुंचते ही डॉक्टरों ने संजय गांधी को मृत घोषित कर दिया l बताया जाता है कि संजय गांधी के विमान हादसे की खबर मिलने के बाद सबसे पहले अस्पताल पहुंचने वाले नेताओं में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और चंद्रशेखर थे l

इसके बाद इंदिरा गांधी ने कुछ ऐसा कहा जिसे सुनकर  चंद्रशेखर के होश उड़ गए थे, उनके लिए ये यकीन करने मुश्किल था आखिर एक माँ ऐसे में भी कैसे राजनीति कर सकती है ? 

क्या हुआ था जब संजय गांधी का शव बगल में रखा था और इंदिरा गांधी राजनीति कर रही थी …

सच्चाई दिखाने के लिए ममता बनर्जी दे रही है इतनी बड़ी सजा !

“Freedom of expression”

There has been a lot of debate over this particular right in recent times. The current government was accused of curtailing this freedom of the people when it objected to anti-national slogans being raised at JNU. The one day ban on NDTV which was later called off also led to the people accusing the government of suppressing the media.

But here today we have a curious case of said “curtailment” but no one seems to be bothered this time around. Zee News and its ace reporter Sudhir Chaudhary have been extensively covering the West Bengal riots when no one else is. But he is also going to pay the price for this.

West Bengal Chief Minister Mamata Bannerjee has filed a FIR against Sudhir Chaudhary and another reporter of Zee News for reporting the riots of Dhulagarh, West Bengal.

Riots against Hindus have been incited in the state and many people have been injured in the same. This has been going on for more than a week now but no news channel dared to show the reality. Zee News was the only channel which extensively reported the situation in the state but now they are facing the brunt too.

People lost it over this news of a FIR being filed and vented out their anger. Watch how the people reacted to this FIR by Mamata Bannerjee.

People fume over Mamata’s FIR

When anti-national slogans were raised in JNU and when they were opposed, a number of intellectuals and journalists had lined up claiming that there is widespread intolerance in the country. The same had happened when a one day ban was handed over to NDTV. These intellectuals had called it curtailment of speech.

But they are nowhere to be seen now. They aren’t sharing their solidarity now. People fumed over these facts and the double standards of such people who take stands just to appease select communities. Watch how the people reacted.

The silence of the media houses and the intellectuals reflect the deep double standards of our politicians and journalists who will not utter a word despite the fact that West Bengal is burning at the moment. And this is only because reporting these riots or speaking against them will irk a certain community and the vote banks will be hampered.

Saddening!

जनसभा में राज बब्बर ने की ये शर्मनाक हरकत

यूपी में कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राज बब्बर की एक जनसभा का वीडियो इन दिनों खूब चर्चा में है। वीडियो में राज बब्बर का बर्ताव कहीं से भी न तो नेता की तरह दिखाई पड़ रहा है न हीं किसी अभिनेता की तरह।

दरअसल जनसभा के लिए सहारनपुर पहुंचे राज बब्बर से मिलने उनके प्रशंसकों की भीड़ जब उनकी तरफ बढ़ी तो कहीं से उन्हें धक्का लग गया। इसपर राज बब्बर को गुस्सा आ गया और उन्होंने वहां खड़े एक पार्टी कार्यकर्ता के बाल पकड़ लिए। हांलाकि कार्यकर्ता ने कहा कि धक्का उसने नहीं बल्कि पीछे से किसी ने दिया।

सहारनपुर में कांग्रेस की रैली, राजबब्बर के सामने अवैध हथियारों से फायरिंग

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर की रैली में शामिल होने जा रहे कार्यकर्ताओं ने कोतवाली के सामने जमकर फायरिंग की। फायरिंग से पूरे बाजार में अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया। पुलिस इस मामले में कार्रवाई के बजाय अपना पल्ला झाड़ रही है। गंगोह में आज कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर की रैली थी। निर्धारित समय दोपहर एक बजे के बजाय राजबब्बर सभास्थल पर करीब चार घंटे लेट पहुंचे। उनकी रैली में जुलूस के रूप में भाग लेने जा रहे कार्यकर्ताओं ने कोतवाली के सामने ही कई बार फायरिंग की।

प्रत्यक्षदर्शियों के तमंचों से फायरिंग की जा रही थी। फायरिंग का वीडियो सोशल मीडिया व कुछ न्यूज चैनल पर वायरल हुआ तो लखनऊ बैठे आला अफसरों ने इस बाबत जानकारी हासिल की। कार्यवाहक एसएसपी व एसपी देहात रफीक अहमद ने बताया कि रैली या कोतवाली के सामने फायरिंग नहीं हुई है। हमने मौके पर जाकर जांच की है। युवक के हाथ में तमंचा नहीं, बल्कि पटाखा फोडऩे वाला पाइप है, जो दूर से देखने पर तमंचा जैसा लग रहा है। ऐसे में कार्रवाई का सवाल ही नहीं उठता। कार्यक्रम संयोजक व नगर पालिका परिषद के चेयरमैन नोमान मसूद का कहना है कि रैली में फायरिंग नहीं हुई है, बल्कि पटाखा फोड़ा गया है।

‘अम्मा’ के अंतिम दर्शन करने पहुंचे राहुल ने किया शर्मनाक बर्ताव (वीडियो)

जब सारा देश तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता की मृत्यु के शोक में गमगीन था। देशभर के नेता जयललिता को श्रद्धांजलि देने के लिए उनके पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन करने पहुंचे। वहीं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी वहां पहुंचे, लेकिन राहुल को उन भावुक क्षणों में जिस तरह बर्ताव करते देखा गया वह निंदनीय है। देखिये जयललिता के अंतिम दर्शन करने पहुंचे राहुल क्या कर रहे थे।

राहुल गांधी को जिस तरह शोक के इस वक्त में लोगों के साथ हंसकर बातें करते देखा गया, ऐसा मालूम हो रहा था कि वे वहां मात्र औपचारिकता निभाने पहुंचे हैं।

जब संसद में ऐसे करते पकड़े गए राहुल गांधी

एक तरफ सोनिया गांधी कह चुकी हैं कि लोकहित से जुड़े मु्द्दों को कांग्रेस सासंद जमकर उठाएं और सरकार को पूरी तरह घेर कर रखें लेकिन दूसरी तरफ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी की किरकिरी करवाने से बाज नहीं आते हैं। जब भी कांग्रेस पार्टी सरकार को घेरने के लिए तैयार दिखती है तभी राहुल कुछ ऐसा कर जाते हैं कि दांव उल्टा पड़ जाता है। आज भी संसद में कुछ ऐसा ही हुआ।

गुजरात के ऊना में दलितों की पिटाई को लेकर जब देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह संसद में इस पूरे मामले पर सरकार का पक्ष साफ कर रहे थे उसी समय राहुल गांधी अपनी सीट पर हाथ से सिर टिकाए सोते दिखाई दिए। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि वे सो रहे थे या हाथ टिका कर कुछ सोच रहे थे।

हालांकि कई मीडिया रिपोर्टस में यह कहा गया है कि सदन में उना मामले पर जब राजनाथ सिंह सरकार का पक्ष रख रहे थे तभी राहुल गांधी लोकसभा में झपकियां ले रहे थे।

सदन में कब-कब सोए हैं राहुल

यह पहला मौका नहीं है जब कांग्रेस उपाध्यक्ष संसद के अंदर सोते हुए पाए गए हैं। इससे पहले जब ललित मोदी के मामले में लोकसभा में बहस चल रही थी और सदन में कांग्रेस के उनकी पार्टी के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे बोल रहे थे तो भी राहुल गांधी को नींद आ गई थी। खास बात यह थी कि इस मामले को राहुल ने खुद संसद में जोर-शोर से उठाया था।


वहीं इस मामले के ठीक एक साल पहले जब मोदी सरकार को महंगाई के मुद्दे पर सदन में घेरा जा रहा था तो भी राहुल को नींद आ गई थी और उनकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी।

इस हिंदुस्तानी लड़की ने पाकिस्तान को दिया मुह तोड़ जवाब

आज कल भारतीय लोगों के मन में पाकिस्तान को लेकर जो नफरत दिखाई देती है उसे देख कर ये कहा जा सकता है कि ये नफरत अब शायद कभी खत्म नहीं होगी . पर बरहलाल दोनों मूल्कों को लेकर आये दिन कोई न कोई बवाल मचा ही रहता है . खास कर मीडिया में जहाँ आज कल केवल इसी मुद्दे पर चर्चा सुनाई देती है . सिर्फ इतना ही नहीं कभी कभी तो दुश्मन मूल्क की तरफ से धमकी भरे खत और धमकी भरे ब्यान या कभी तो धमकी भरे विडियो भी मिलते ही रहते है पर इस बार एक भारतीय लड़की ने पाकिस्तान के लिए विडियो बनाया है या यू कहा जाये कि पाकिस्तान को जवाब देने वाला विडियो बनाया है .

एक हिंदुस्तानी लड़की ने पाकिस्तान को दिया मुह तोड़ जवाब .. 

ये विडियो सोशल मीडिया पर भी काफी वायरल हो रहा है . इस विडियो में इस लड़की की देश भक्ति साफ़ दिखाई देती है क्योंकि इसने पाकिस्तान के विरुद्ध जो भी कहा है वो एक कविता के जरिया कहा है और अगर आप भी इसकी कविता को सुनेगे तो आपको भी गर्व होगा .

इस लड़की के शब्द पाकिस्तान के लिए किसी बंदूक से निकली हुई गोली से कम नहीं है . हम जानते है आप भी ये विडियो देखना और सुनना चाहते है तो लीजिये आप भी सुनिये इस निडर लड़की का ये विडियो जिसने कविता के कुछ शब्दो से ही पाकिस्तानियो को मुह तोड़ जवाब दिया है.

देखिये विडियो-

 

देखिये जब अंजना ॐ कश्यप निकली नेगेटिव रिपोर्टिंग करने तब पब्लिक ने ….

आजतक हिंदी न्यूज़ चैनेल की एक नामी पत्रकार अंजना ॐ कश्यप जनता के बीच जाकर नोट बंदी के खिलाफ नेगेटिव न्यूज़ फीड इकट्ठा करने में जुटी थी l ऐसे पत्रकारों को सख्त हिदायत मिली होती है कि वो एक तरह की खबरें एकजुट करके ही लोगों को दिखाएँ जिससे आम जनता के विचार बदल सके , लेकिन आजतक वालों को ये शायद मालूम नही कि आज देश की पब्लिक कहाँ तक पहुँच गयी है l 

ऐसा ही एक काम किया हमारी पत्रकार महोदया ने

अंजना ॐ कश्यप ने जब नेगेटिव रिपोर्टिंग करने निकली तभी पब्लिक ने उनके मुह पर दे दिया घुमा के

 

 

आप आगे वीडियो में देख सकते है कि क्या क्या हुआ उनके साथ :-

 

आपके आस पास कोई पत्रकार अधूरी रिपोर्टिंग करे या जानबूझ कर एक तरफ़ा बनाने की कोशिश करे तो उन्हें मौके पर ही धर लेना चाहिए l


राहुल कँवल के इस बयान से नाराज हो सकते है मुस्लिम !

आज तक के पत्रकार राहुल कँवल को अधिकतर मोदी और बीजेपी विरोध के लिए जाना जाता है लेकिन इस विडियो में देखिये राहुल कँवल को गुजरात दंगो पर नरेन्द्र मोदी का समर्थन करते हुए ..हालांकि यह विडियो २०१४ का है जब चुनाव के समय राहुल कँवल आजम खान का इंटरव्यू लेने के लिए रामपुर गये हुए थे..

और उस समय नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री पद पर बीजेपी के उम्मेदवार थे .. हालांकि सार्वजानिक रूप से गुजरात दंगों का इस तरह समर्थन करना किसी पत्रकार के बस की बात नहीं है लेकिन इशारों ही इशारों में आज़म खान के सामने ही राहुल कँवल ने गुजरात दंगो पर नरेन्द्र मोदी की तारीफ करते हुए कहा है की “पहले हर साल दंगे होते थे लेकिन २०१२ के बाद एक भी दंगा नहीं हुआ.

देखिये यह विडियो 

ऐसा नज़ारा आपने बहुत कम देखा होगा !

 

Prime Minister Narendra Modi’s demonetization move has caused inconvenience to the people and they have had to wait in long queues for the past few days too.

But despite these hardships the people have showed faith in him and his bold decisions. Over the last few days, we have come across numerous videos where the people have openly said that they are in full support of the PM despite the hardships.

PM Modi has repeatedly thanked the people for their support but this time he went a step ahead in connecting with the people.

PM Modi has made it clear that his fight against black money has just begun and the demonetization was just the first move. He has also sent out multiple warnings to the hoarders and asked them to mend their ways.

But during arecent event in Pune, PM Modi put forward his next move for public opinion. He revealed his next move and asked the people for “approval”. Watch what happened next in the video below.

“आतंकी भटके हुए नहीं है बल्कि इस्लाम व कुरान ही उन्हें आतंक सीखा रही है”

तस्लीमा नसरीन जो की बांग्लादेशी मूल की मुस्लिम लेखिका है, वो कुरान व् इस्लाम को अच्छे से जानती हैं चूँकि वो इसका अच्छे से अध्ययन कर चुकी हैं. तस्लीमा ने कहा कि, “इस्लाम को शांति का मजहब कहना बंद कीजिये क्योंकि इस्लाम शांति का मजहब नहीं है”

आप स्वयं वीडियो भी देख सकते हैं, तस्लीमा नसरीन क्या कह रही हैं

तस्लीमा ने इंडिया टुडे को साक्षात्कार देते हुए कहा कि, “इस्लाम शांति का मजहब नहीं है और आतंकी कोई भटके हुए लोग नहीं है”

* आतंक फैलाने की सीख कुरान और इस्लाम से ही मिल रही है
* कुरान में ऐसी बहुत सी आयतें है जो कहती है कि, जो मुस्लिम नहीं है इसका क़त्ल करो, उसका बलात्कार करो, उसे लूटो, उसका धर्मान्तरण करो
* तस्लीमा ने बताया कि, आतंकी कुरान का गलत अर्थ नहीं निकाल रहे बल्कि वो जो कर रहे है वही कुरान में लिखा है

साथ ही तस्लीमा ने कहा कि, जो लोग ये कहते है कि आतंक का कोई मजहब नहीं होता, आतंकी का इस्लाम से लेने देना नहीं है वो सब या तो झूठ बोल रहे है
या उन्होंने कुरान अपने जीवन में कभी नहीं पढ़ा है।

दुनियाभर के मुसलमानों पर ट्रम्प ने बोला हमला ! इस कदम से मुस्लिम देशों पर टूटा कहर

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अमेरिकी चुनावों के प्रचार अभियान के दौरान साफ़ साफ़ कहा था की उन्हें मुसलामानों से नफरत है और विशेषकर पाकिस्तानियों से l और वो यदि राष्ट्रपति बनते हैं तो तुरंत ही अमेरिका से आतंकवाद को ख़त्म करने के लिए समूचे देश में मुसलामानों की एंट्री पर पूर्णतया बैन लगा देंगे l

और अभी अभी इस विषय में डोनाल्ड ट्रम्प ने एक ऐसा कट्टर कदम ले ही डाला है जिससे पूरे पाकिस्तान में हड़कम्प मच गया है यहाँ तक की तेल के दम पर रईस बने खाड़ी देशों में भी डोनाल्ड ट्रम्प का खौफ रुकने का नाम नहीं ले रहा है इस कदम के बाद से l

जहाँ पूरी दुनिया में लोग इस्लाम को आतंक का धर्म बताने से बचते हैं वहीँ जर्मनी में हाल में हुए क्रिसमस मार्किट में एक इस्लामिक आतंकवादी के अटैक के बाद ट्रम्प के गुस्से का बाँध फूट गया हाल ही में अमेरिकी चुनाव में जीत के बाद कुछ समय से शांत बैठे डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा की ये हमला सीधे तौर पर एक धार्मिक कारणों से मुस्लिम लोगों ने ईसाई लोगों पर किया है और अब वो रुकने वाले नहीं हैं और वो अमेरिका में मुस्लिमों पर प्रतिबन्ध लगाने के विषय पर पहले से भी ज्यादा आक्रामक हो चुके हैं l

ऐसे में अब सबसे शक्तिशाली अमेरिका दुनिया भर में आतंकियों को चुन चुन कर मारना शुरू कर सकता है जैसा की अमेरिका पहले भी ईराक और अफ़ग़ानिस्तान में कहर बरपा चुका है ये पूरी दुनिया जानती है l और अब तो अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो की एक कट्टर आतंक विरोधी हैं वो तो जाने क्या प्रलय लायेंगे इसका अंदाजा उनके सख्त रुख और गुस्से से ही लगाया जा सकता है l ऐसे में आतंकियों और उनको पालने वाले भारत के पडोसी मुल्कों में अफरातफरी मचना तो जाहिर सी बात है l

ट्रंप प्रशासन ने अमेरिका में मुसलमानों के प्रवेश पर रोक लगाने की शुरू की तैयारी! भारतीयों में मशहूर एच-1बी वीजा पर नरमी के संकेत देते हुए टीम ने बताया कि कानूनी आव्रजन प्रणाली में जो सुधार होंगे वह अमेरिका और उसके श्रमिकों के हितों को ध्यान में रखकर किया जाएगा।

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप शपथ लेने के बाद मुसलमानों के प्रवेश पर पाबंदी लगाने की दिशा में आगे बढ़ेंगे। आव्रजन प्रणाली की ‘विश्वसनीयता बहाल’ करने के लिए उनकी टीम ने जो 10 सूत्री योजना तैयार की है उससे इसके संकेत मिलते हैं। सत्ता परिवर्तन की प्रक्रिया से जुड़े ट्रंप के दल (ट्रांजिशन टीम) ने शुक्रवार को बताया कि मेक्सिको सीमा पर दीवार बनाना, कुछ देशों के लिए वीजा निलंबित करना और कानूनी आव्रजन व्यवस्था में सुधार इस योजना के दायरे में हैं।

सुरक्षा के लिए खतरनाक :

ट्रांजिशन टीम ने कट्टरपंथी विचारधाराओं, परमाणु हथियार और साइबर हमलों को अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरनाक बताया है। ट्रंप प्रशासन इन क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगा।

यहाँ देखें पूरी खबर इस विडियो में-

इमाम इलियासी का हिंदुत्व पर दिया ये जबरदस्त बयान, सभी को जरूर सुनना चाहिए

जैसे की आप सब लोग की किस तरह से आज कल धर्म की बातो पर ज्यादा विचार हो रहा है और साथ ही आपको यह भी बता दे की हर धर्म अपने आप में एक बड़ा ही मुद्दा होता है और साथ ही आपको बता दे की इमाम इलियासी का हिंदुत्व पर दिया ये जबरदस्त बयान, सभी को जरूर सुनना चाहिए l

इमाम इलियासी का हिंदुत्व पर दिया ये जबरदस्त बयान, सभी को जरूर सुनना चाहिए

बात है इनसाइक्लोपीडिया ऑफ़ हिन्दूइस्म के एक कार्यक्रम में जिसमे इमाम इलियासी अपना भाषण दे रहे थे वो उनके साथ बैठे थे आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, विवेक ओबराय और कई जाने माने संत l भी मजूद थे और साथ ही आपको यह भी बता दे की इमाम इलियासी ने जब हिंदुत्व पर बोलना शुरू किया तो पूरा हॉल तालियों से गूँज उठा l और यह भाषण को काफी लोगो को पसन्द किया है और साथ ही यह भी तय है की इस बात पर विचार करने भी काफी अच्छा माना गया l

देखिये वीडियो में कैसे इमाम इलियासी ने हिंदुत्व पर बात की

Recommended Stories