पपीते के बीज केवल चार दिन ही खाये थे और कुछ ऐसा हो गया कि….

1245

पपीता सबसे ज्यादा लाभकारी फलों में से एक है। पपीता केवल पका हुआ ही नही बल्कि कच्चा भी खाने में बहुत उपयोगी होता है। इसमें विटामिन ए और सी के साथ-साथ ही नियासिन, मैग्नीशियम, पोटेशियम, प्रोटीन, कैरोटीन और प्राकृतिक फाइबर पाया जाता है। जिसके कारण यह अनेक रोगों को भी ठीक करता है।

 

source

आपको बता दे कि पपीते के साथ-साथ इसके बीज भी बहुत फायदेमंद होते है।इसके बीजों को थोड़ी देर के लिये पानी में डाल दें फिर उसमें लगी झिल्ली को हाथों से मसलकर छूटा दें । इसके बाद सूखा कर उनको बारीक पीस लें।  रोज सुबह और शाम के समय 3-5 ग्राम की मात्रा में यह चूर्ण गुनगुने पानी के साथ सेवन करना है । लेकिन इसके फायदे क्या है यह हम आपको बताते है।

source

यदि किसी को फोड़े फुन्सी और एलर्जी जैसी समस्या है तो उन लोगों को इस पाउडर को पपीते के गूदे के साथ मिलाकर त्वचा पर लगाये और सेवन भी कर सकते है तो यह त्वचा की सभी समस्या दूर हो सकती है। इससे चहरे के दाग धब्बे भी दूर हो जाते है।

पपीते में विटामिन ए, प्रोटीन पाया जाने के कारण यह आंखों की रोशनी के लिए भी बहुत लाभदायक होता है। यदि पपीते के बीज का चूर्ण रोज सुबह और शाम के समय गाय के दूध के साथ सेवन किया जाये तो आंखों से संबंधित सभी बिमारियों को दूर करता है।

source

पपीते के बीज पथरी को फोड़ने में बहुत लाभदायक है। यदि किसी भी व्यक्ति के गुर्दे में पथरी हो तो पपीते के बीजों के चूर्ण रोज सुबह और शाम के समय गुनगुने पानी में चौथाई ग्राम खाने का सोडा मिलाकर सेवन करें। सोडा खाने से रोगी की पेशाब आने की मात्रा काफी बढ़ जाती है जिससे पथरी टूटकर जल्द ही पेशाब के साथ बाहर निकल जाती है।यदि किसी के मूत्र मार्ग में पथरी हो तो ,एक बार 4-5 दिन के लिये इसका सेवन करें।। लेकिन पथरी के रोग में सभी तरह का परहेज करना भी ना भूलें।

 

source

आपको बता दे कि यदि किसी को कैंसर जैसी भयंकर बीमारी हो तो पपीता के बीजों को साबुत चबाकर खाया जा सकता है और पाउडर बनाकर भी इस्तेमाल कर सकते है। यदि आपको पीपता के गुणों के बारें में पढ़कर अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के शेयर करना ना भूलें।

Loading...
Loading...